Header Ads Widget

Ticker

6/recent/ticker-posts

विचार क्या है



 
विचार क्या है, विचार शब्द का अर्थ है उन विचारों, मतों या विश्वास से हैं जो हम अपने, दूसरों के बारे में या दुनिया के बारे में सोचते हैं । अपने बारे में सोचना कि जीवन में हमारा उद्देश्य क्या है । जब हम कहते हैं कि मैं किसी चीज के बारे में सोचता हूं, तो हमारा क्या मतलब है ? यह एक बहुत ही महत्वपूर्ण प्रश्न है और यह थोड़ा भ्रमित करने वाला भी हो सकता है । मेरा मतलब यह है कि मेरी किसी चीज के बारे में क्या राय हैं. मेरी क्या सोच है इन सब चीजों को ही विचार का नाम दिया गया है । इस तरह के अनगिनत विचार हमारे अंदर चलते ही रहते हैं ।

विचार क्या है, हमारे जीवन में विचार का बहुत महत्व है। क्योंकि हम जिस तरह के विचार करते हैं वे हमारे कर्म बन जाते हैं । क्योंकि हम जो भी सोचेंगे वही करेंगे । लेकिन हमें अपने विचारों को वह नहीं करने देना चाहिए जो हम करना नहीं चाहते । क्योंकि विचार सकारात्मक भी हो सकते हैं, और नकारात्मक भी हो सकते हैं । इसलिए पहले हमें समझना चाहिए कि हमारे विचार किस तरह के हैं, उसके बाद ही हमें किसी तरह का फैसला लेना चाहिए।

विचार क्या है, विचार को किसी चीज पर ध्यान से विचार करने के लिए अपने दिमाग का प्रयोग करने के रूप में परिभाषित भी किया जाता है । यह किसी चीज के बारे में जागरूक होना और उस पर विचार करने, समझने और उसके बारे में राय बनाने के लिए अपने दिमाग का उपयोग करने में सक्षम है ।

विचार वह प्रक्रिया है जिसके द्वारा हम एक विचार से दूसरे विचार में जाते हैं । यह हमारे दिमाग के काम करने की प्रक्रिया है । हम चीजों के बारे में सोचते हैं और निष्कर्ष पर पहुंचते हैं । विचार वे चीजें हैं जो हम करते हैं विचार एक सोचने की क्षमता है, विचार को सोच के कार्य के रूप में भी जाना जाता है, यह हमें जीवन में निर्णय लेने में मदद करने के लिए दिमाग का प्रयोग करने का कार्य है । हमारे जीवन में किसी भी चीज से ज्यादा महत्वपूर्ण सोचना है । क्योंकि हम जो सोचते हैं वही करते हैं । विचार हमारे मन की अभिव्यक्ति हैं । विचार हमारे भीतर की आवाज है जो हम से बात करती हैं । लेकिन जो सकारात्मक विचार होते वे हमें अच्छे रास्ते की तरफ ले जाते हैं, और जो नकारात्मक विचार होते हैं वह हमें बुराई की तरफ।

विचार क्या है, हम लोगों को शुरू से ही हर बात में विचार करने की आदत होती है । कोई भी इंसान इससे अछूता नहीं है । बिना विचार किए हम अपने जीवन में कुछ भी नहीं कर सकते । जीवन में हमें कुछ भी काम करना है तो सबसे पहले हम इस बात पर विचार करते हैं कि यह हमारे लिए ठीक है या नहीं उसके बाद ही हम आगे बढ़ते हैं । बिना विचार किए हम जीवन में कुछ भी नहीं कर सकते ।

विचार हमारे दिमाग की एक ऐसी प्रक्रिया है जो हर समय चलती ही रहती है । हम लोग किसी भी चीज की तरफ देखते हैं तो हम कोई ना कोई विचार उस चीज के बारे में बना लेते हैं । अब जो हमने विचार किसी के बारे में बनाया है वह अच्छा है या बुरा इसके बारे में हमें सोचने की बहुत ज्यादा जरूरत है । क्योंकि ज्यादातर हमारे विचार गलत होते हैं । जीवन में हमें यह सोचकर विचार करना चाहिए के जो हम सोच रहे हैं वह गलत है या सही, क्योंकि अगर हम यह सोचकर नहीं चलेंगे तो हम गलत रास्ते की तरफ भी जा सकते हैं । क्योंकि विचार ही एक दिन हमारे कर्म बनते हैं । अब यह हमारे ऊपर हैं कि हमने अच्छे विचार करने हैं या बुरे ।

हमारा दिमाग विचारों का एक अथाह भंडार है जो पल पल बदलता रहता है। यह कभी भी टिक कर नहीं बैठ सकता। यह हमारी जिंदगी के किसी भी पहर में विचार करने से नहीं रुकता। जब हम सोते हैं तो यह सपनों के रूप में भी कभी-कभी हमारे सामने आ जाता है, कहने का मतलब यह है कि, हमारे जन्म से लेकर मृत्यु तक यह विचार हमारे अंदर चलते ही रहते हैं। विचारों को रोकना किसी भी इंसान के लिए नामुमकिन है।

अध्यात्मिक रास्ते पर चलने के लिए सबसे पहले इन्हीं विचारों पर काबू पाने के लिए जोर दिया जाता है क्योंकि जिन विचारों से हमारे कर्म बनते हैं उसी का हिसाब हमें देना ही पड़ता है । इसलिए हमेशा यही कहा जाता है कि जब भी कोई विचार करें अच्छे ही विचार करें । दोस्तों जिंदगी में हमारी भी यही कोशिश होनी चाहिए के हर चीज के बारे में अच्छा सोचे, अच्छे विचार करें, ताकि हम कर्मों के बंधन से बच सकें । और अपने जीवन को अच्छे रास्ते की तरफ ले जा सके। क्योंकि अच्छे विचार और अच्छी सोच ही पवित्र रूह की पहचान है।

अगर आपको मेरा ये लेख पसन्द आया हो, तो इसे अपने दोस्तों के साथ Whats app, Facebook आदि पर शेयर जरूर करिएगा। आप अपनी प्रतिक्रिया हमें कमेंट करके भी बता सकते हैं |

 आपके प्यार व सहयोग के लिए आपका बहुत-2 धन्यवाद।*

Post a Comment

0 Comments